Click to Download this video!

गांव में भाभी का खुशबूदार बदन

Gaanv me bhabhi ka khushbudar badan:

bhabhi sex stories, antarvasna हेलो दोस्तों, मेरा नाम सुधीर है मैं बेंगलुरु का रहने वाला हूं। मेरे पापा बेंगलुरु में 20 वर्ष पहले आकर बस गए थे। मैंने अपने स्कूल की पढ़ाई और कॉलेज की पढ़ाई यहीं से की है। मेरे पिताजी का गांव उत्तर प्रदेश में है लेकिन वहां जाने का हमें आज तक मौका नहीं मिल पाया। मैंने अपनी पढ़ाई के बाद नौकरी करनी शुरू कर दी। मैं जिस कंपनी में नौकरी करता हूं उसी कंपनी में मेरा एक दोस्त भी है उसका नाम लखन है। वह मध्य प्रदेश का रहने वाला है। लखन मेरे साथ जब भी बैठता है तो हमेशा अपने गांव की बड़ी तारीफ करता है और कहता है कि हमारे गांव में सब लोग कितने प्यार और प्रेम से रहते हैं। यहां पर तो जैसे किसी को किसी से कोई मतलब ही नहीं है। मैंने लखन से कहा अरे भैया यहां पर लोगों को एक दूसरे से बात करने की फुर्सत नहीं है तो तुम कैसे उम्मीद कर सकते हो कि कोई किसी से मतलब रखेगा।

लखन से मेरी बड़ी अच्छी दोस्ती है। लखन जब भी अपने गांव जाता है तो हमेशा अपने गांव से कुछ चीज तो मेरे लिए लेकर आता है। वह जब अपने मां के हाथ के बने हुए लड्डू मुझे देता है तो मुझे बहुत अच्छा लगता है। जब भी वह गांव जाता है तो मैं उसे हमेशा एक बात कहता हूं कि तुम इस बार मेरे लिए अपनी मम्मी के हाथ के बने लड्डू लाना मत भूलना। वह भी हमेशा मेरे लिए अपनी मां के हाथ के बने लड्डू लाता है। एक दिन हम दोनों अपने ऑफिस में बैठकर काम कर रहे थे। लखन मुझसे कहने लगा भैया तुम्हें अब मेरे साथ मेरे गांव चलना ही पड़ेगा। मैंने उससे कहा कि वहां आकर मैं क्या करूंगा। वह कहने लगा इस बार तो तुम्हें मेरे साथ चलना पड़ेगा। तुम्हें हमारी दोस्ती का वास्ता है। जब उसने मुझे अपनी दोस्ती का वास्ता दिया तो मुझे लगा कि चलो अब लखन के घर चला ही जाए। मैंने उससे पूछा की हम लोग वहां पर क्यों जाने वाले हैं? वह कहने लगा मेरी बहन की शादी है। क्या तुम मेरी बहन की शादी में नहीं आओगे? मैंने लखन से कहा तो फिर तुम मुझसे अपनी दोस्ती का वास्ता क्यों दे रहे हो? तुम वैसे ही मुझे कह देते तो मैं तुम्हारे साथ जरूर चलता। तुम्हें भी बात को घुमा फिरा कर कहने की आदत है।

लखन मेरी बात सुन कर हंसने लगा और कहने लगा अरे भैया तुम ही तो हमारे एक दोस्त हो। मैं तुमसे तो मजाक और मस्ती कर ही सकता हूं। मैंने कहा चलो छोड़ो रहने दो लेकिन यह बताओ कि हमें वहां कब जाना है? वह कहने लगा बस कुछ दिनों बाद हम लोग वहां चलते हैं। हम लोग कुछ दिनों बाद लखन के गांव पहुंच गए। जब हम लोग लखन के गांव पहुंचे तो मैं उसके परिवार से मिला तो उसके परिवार में काफी सदस्य थे। वह लोग एक साथ रहते हैं। उसके चाचा और उसके ताऊजी भी उनके साथ रहते हैं और उनके बच्चे भी उनके साथ ही रहते हैं। मैं लखन से कहने लगा तुम्हारा परिवार तो बहुत बड़ा है। मुझे तो समझ ही नहीं आ रहा कि कौन तुम्हारे ताऊ हैं। कौन तुम्हारे चाचा हैं। वह कहने लगा तुम कुछ दिन यहां रहोगे तो तुम्हें सब कुछ समझ आ जाएगा। उसका घर भी काफी बड़ा था। हम लोग अब कमरे में जाकर आराम करने लगे। मैं लखन के कमरे में ही था। लखन मुझे कहने लगा कि अब तुम गांव की हवा लो और यहां पर आराम से कुछ दिन बिताओ। मैंने उसे कहा मैं पहले कुछ देर आराम कर लेता हूं। मुझे काफी थकान हो रही है। उसने मुझे कहा क्यों नहीं तुम आराम करो। मैं जब बिस्तर पर लेटा तो मुझे इतनी अच्छी नींद आई कि मैं 3 घंटे बाद उठा। 3 घंटे बाद उठा तो लखन भी मेरे बगल में पलंग पर लेटा हुआ था। वह बड़े जोर-जोर से खराटे ले रहा था। मैंने लखन को उठाया और कहा कि लखन मेरी अब नींद खुल चुकी है। अब हम लोग कहां जाएं? वह कहने लगा कि रुको मैं भी मुंह हाथ धोकर आता हूं। उसके बाद मैं तुम्हें गांव की सैर पर लेकर चलता हूं। लखन और मैंने मुंह हाथ धोया उसके बाद हम दोनों गांव की सैर पर निकल पड़े। वह मुझे अपने गांव के दोस्तों से मिलाने लगा। मुझे भी उनसे मिलकर काफी अच्छा लगा और जब हम लोग घर वापस लौटे तो उसकी मां कहने लगी कि बेटा अब तुम कुछ खाना खा लो। तुम दोनों सुबह से भूखे हो। मैंने उनसे कहा कि भूख तो मुझे बड़ी जोरदार लगी है। मैंने जब वह खाना खाया तो मुझे खाना खाकर बड़ा मजा आ गया। मैंने उनसे कहा कि आंटी आपने तो बड़ा अच्छा खाना बनाया है। आपके हाथ में तो जादू है। ऐसा खाना तो बेंगलुरु में नहीं मिलता।

लखन मुझे कहने लगा कि यह खाना चूल्हे में बना है इसलिए इसका स्वाद आ रहा है। मैं तो वह खाना खा कर वाकई में बड़ा खुश हो गया। मैंने इतना ज्यादा खा लिया था कि मुझे नींद आने लगी। उसके बाद मैं और लखन कमरे में जाकर दोबारा से सो गए। हम लोग जब उठे तो उस वक्त शाम अपने चरम पर थी। लखन की बहन की शादी 10 दिन बाद थी लेकिन हम लोग पहले ही आ गए थे। जब हम लोग शाम के वक्त उठे तो लखन की बहन हमारे लिए चाय लेकर आई। उसने हम दोनों से कहा कि भैया चाय पी लो। हम दोनों ने चाय पी और उसके बाद हम दोनों कुछ देर तक बातें करते रहे। लखन के कमरे मे जो खिड़की थी उससे बाहर जब मैंने देखा तो वहां एक भाभी दिखाई दी उन्होंने लाल रंग की साड़ी पहनी हुई थी उसमें वह बड़ी माल लग रही थी। मैंने लखन से पूछा अरे लखन यह भाभी कौन है उन्हें देखकर मेरा लंड खड़ा होने लगा है। वह कहने लगा हमारे पड़ोस में ही रहती हैं उनका नाम सुधा है। मैंने लखन से कहा तुम सुधा भाभी से मेरी बात करवा दो। वह कहने लगा तुम रहने दो वह बड़ी शरीफ महिला है। वह किस से बात नहीं करती। मैंने उसे कहा तो उसने मेरी सुधा भाभी से बात करवा दी। मैंने उन्हें अपनी बातों के जाल में फंसा दिया। वह मुझसे पूरी तरीके से पट गई।

एक दिन उन्होंने मुझे अपने घर पर बुला लिया। मैं जब उनके घर गया तो मैं उनके बगल में बैठा हुआ था। मैंने जब उनके हाथों को पकड़ा तो वह मुझसे कहने लगी लगता है आज आप मुझे कच्चा ही चबा जाएंगे। मैंने उन्हें कहा आपका बदन ऐसा है कि आपको तो कोई भी नहीं छोड़ेगा। मैंने आपके जैसे महिला आज तक अपने जीवन में नहीं देखी। यह कहते हुए मैंने उन्हें अपनी बाहों में ले लिया और उन्हें दबाना शुरू कर दिया। मैने उनके स्तनों को दबाया तो उनके अंदर गर्मी पैदा हो रही थी और मेरा लंड खड़ा हो गया। जैसे ही सुधा भाभी ने मेरे लंड को अपने मुंह के अंदर लिया तो मुझे बहुत अच्छा महसूस हुआ। वह मेरे लंड को सकिंग करने लगी मुझे मजा आ रहा था। मैंने उनकी योनि को चाटना शुरू किया तो मुझे बहुत अच्छा महसूस होने लगा। मैंने जैसे ही भाभी की योनि के अंदर उंगली डाली तो उनकी योनि से चिपचिपा पदार्थ बाहर निकल रहा था। मेरा लंड भी पूरा खड़ा हो चुका था मैंने सुधा भाभी की योनि के अंदर अपने लंड को प्रवेश करवा दिया। जैसे ही मेरा लंड उनकी योनि के अंदर गया तो मुझे बहुत अच्छा लगा और उनके मुंह से मदक आवाज निकलने लगी। वह अपनी गर्म सांसे बाहर छोड़ने लगी और अपने दोनों पैरों को चौड़ा करने लगी। मेरा 9 इंच मोटा लंड उनकी योनि के अंदर बाहर होने लगा। जैसे ही मैं अपने लंड को अंदर बाहर करता तो उनके अंदर की गर्मी भी बाहर निकल आती वह चिल्ला रही थी। मैं ज्यादा समय तक उनकी चिकनी योनि की गर्मी को नहीं झेल पाया। जैसे ही मेरा वीर्य पतन उनकी योनि के अंदर हुआ तो वह कहने लगी लगता है आप थक चुके हैं। मैंने भाभी से कहा नहीं ऐसी कोई बात नहीं है। उन्होंने दोबारा मेरा लंड को हिलाना शुरू किया और मैंने कुछ देर उनके साथ 69 पोज मे सेक्स का मजा लिया। हम दोनों एक दूसरे के प्राइवेट पार्ट को अपने मुंह में ले रहे थे और मजे ले रहे थे। मैंने जब दोबारा भाभी की चिकनी चूत के अंदर अपने लंड को डाला तो मुझे बहुत मजा आया। मैंने उन्हें बड़ी तेज गति से धक्के दिए। मैं उनकी चूत की गर्मी को 5 मिनट तक झेल पाया। जब 5 मिनट बाद मेरा वीर्य पतन हुआ तो जैसे उस दिन मेरी इच्छा पूरी हो गई और उनके गोरे बदन का मजा ले कर मैं बहुत खुश हो गया।


Comments are closed.


error:

Online porn video at mobile phone


Hindi Tyson teacher ke chidaiअकेली मौसी की चुदाई की कहानी के सभी पेजbua chudai storybahan ko kaise chodubahan ki gand mari kahanixxx mom ki chudaiभाई ने बहन और चाची को चोदासेक्स वीडियो पंजाब ससुर बहु रन्डी डाउनलोडMe aor meri pyari didi sex story hindipapa ne seal todibaju vali bhabhi ko chodasex stories of mastramfuddi ki chudaihindi sexyenaukrani ki gaandsasur bahu chudai in hindi6 sal ki ladki ki chudaididi ki chut dekhisexy chodaibest chudai kahanimeri chudai karoporn story hindi memarwadi rajasthani sexbap beti ko chodamausi ko choda storynangi ladkiyon ki chootbhabhi aur devar ka sexadult chotiअजनबी ने चोद दियाmaa ka bhosdaindian hindi kahanichachi ko choda story in hindisali jija ki chudai videochut lund ki baatewww bhabhi ki chudai ki kahani combhikhari se chudaihasino ki chudaimadarchod storydesi pelaisir ki biwi ki chudaisex ki aag comdesi kahaniya in hindi fontpatni ki chudaikaki ke sath sex छोटी सी भूल हिंदी सेकसी कहानीगाड मेडाला लडmaa beta baap beti ki chudaitantrik ne chodabhabhi ke boorfree chut sexreal chudaimastram sexsex story read in hindiseks banya hidiladki chudai storysali ki chut photo17 saal ki ladkibhabhi ki chut me devar ka lundmaa ki chudai ki kahanichacha chachi ki chudai ki kahanibhabhi kee chootbhabhi ki chodai ki storybadi didi ki chudai kahanikuwari chut sexdesi aunty kahaniMaa ko chut me muth marter beti ne dekha hindi mebadwape of sala ki parni ki choudi panjabimaa ki chudai bus meamulya sexgand mari storysasur ne bahu ki gand marihindi sex story groupaunty ki chut kahaniSamuhik chudai desidees bhabi ne dever ko chodaSexy sweta kind kahanisex story in hindi with picajab gajab chodai aanty hindi khani maa bovaxnxx story in hindiचुदकड रनडी का फोन Nambarjijaji ne gand marimuslim raand ki gaand faaru storysexy aunty ko chodasaxi khaniyaशादी में मिली लड़की ने चूत और गांड मरवाईdesi bhai bahan chudai10 sal ki ladki ki chudai ki kahanisuhagraat ki kahani in hindiपहिली बारचुदाईbhabhi ki chudai bhabhi ki chudaijija sali chudai hindi story