Click to Download this video!

गेट टुगेदर पार्टी का मजा बाथरुम मे

Get together party ka maja bathroom me:

antarvasna, desi chudai ki kahani

मेरा नाम संदीप है, मैं कानपुर का रहने वाला हूं। मेरी उम्र 35 वर्ष है और अब मेरी शादी हो चुकी है। मैं अपने शादीशुदा जीवन से बहुत खुश हूं। करीब दो वर्ष पहले मेरी नौकरी मुंबई में लग गई। मैंने उसके बाद मुंबई में एक फ्लैट भी ले लिया। मैं अपनी पत्नी से बहुत प्रेम करता हूं और वह भी मुझसे बहुत प्रेम करती है। हम दोनों की मुलाकात एक कॉमन फ्रेंड के थ्रू हुई थी। उसके बाद हम दोनों की मुलाकात आगे बढ़ती चली गई। मेरी पत्नी का नाम संजना है। जब हम दोनों के बीच शादी को लेकर सहमति बन गई तो मैंने अपने घर में बात की। मेरे पिताजी भी एक सरकारी अधिकारी रह चुके हैं। अब वह रिटायर हो गए हैं इसलिए उन्हें अच्छे और बुरे की बहुत अच्छे से समझ है। उन्होंने मुझे कहा बेटा पहले मैं एक बार संजना से मिलना चाहता हूं, उसके बाद ही मैं कोई निर्णय ले पाऊंगा। मैंने अपने पिताजी को कहा कि मैं संजना को घर पर ही बुला लेता हूं।

उस वक्त मैं कानपुर में ही नौकरी करता था तो मैंने संजना को घर पर ही बुला लिया। जब वह मेरे पापा मम्मी से मिली तो मेरे पापा मम्मी उससे मिलकर बहुत खुश हो गए। वह कहने लगे बेटा तुम्हारी पसंद तो हमें पसंद है और अब हम आगे तुम दोनों की शादी करवाने को तैयार है। उसके बाद हम दोनों की शादी हो गई। संजना के घर वालों को भी मैं पसंद था क्योंकि मैं एक अच्छे घर से था और मेरा व्यवहार उन्हें बहुत अच्छा लगा। अब हम दोनों की शादी हो गई तो शादी के कुछ समय तक तो मैं कानपुर में रहा उसके कुछ महीनों बाद ही मुझे मुंबई से ऑफर आ गया। फिर मैं मुंबई आ गया और मैंने मुंबई में ही नौकरी करनी शुरू कर दी। उसके थोड़े समय बाद मैंने संजना को भी अपने पास बुला लिया। संजना और मैं एक साथ रहते हैं। मेरी मम्मी पापा की देखभाल मेरी बहन करती है। मेरी बहन ही उनके साथ रहती है और अभी वह कॉलेज कर रही है। एक दिन मैं घर में बैठा हुआ था उस दिन मैं अपने कुछ पुराने दोस्तों की तस्वीर देख रहा था। जब मैंने उनकी तस्वीरें देखी तो मैंने सोचा कि मैं उन लोगों को फोन कर लूं। वैसे भी काफी वक्त से उन लोगों से मेरी बात नहीं हुई थी।

मैंने अपने कॉलेज के दोस्त राकेश को फोन किया। मैंने जब राकेश को फोन किया तो शायद उसके फोन में मेरा नंबर भी सेव नहीं था क्योंकि कॉलेज खत्म होने के बाद तो जैसे सब लोग एक दूसरे से अलग हो गए थे और अपनी जिंदगी में व्यस्त हो गए। मैंने राकेश को कहा अरे भैया कैसे हो? पहले तो राकेश कुछ देर तक पहचान नहीं पाया। वह कहने लगा कौन बोल रहे हैं? मैंने राकेश से कहा जरा अपने दिमाग में जोर डालो और पहचानो कि मैं कौन बोल रहा हूं। उसने थोड़ी देर अपने दिमाग में जोर डाला और कहा कि अरे संदीप तुम कैसे हो? मैंने उसे कहा मैं तो ठीक हूं। तुम सुनाओ तुम क्या कर रहे हो? वह कहने लगा क्या कर रहे हैं। बस अपनी जिंदगी काट रहे हैं। अब पिताजी की परचून की दुकान संभाल रहा हूं और सुबह से शाम तक गधे की तरह काम करता रहता हूं। मैंने उसे कहा अच्छा तो तुम भी अब अपने पिताजी की तरह पूरे बनिया बन चुके हो। वह कहने लगा तुम्हें तो पता है यह हमारा खानदानी काम है और अब मैं इसे ऐसे कैसे छोड़ सकता हूं। यह हमारी कई पुस्तियों से चला आ रहा है। इसी में मेरे पिताजी ने अच्छा पैसा कमाया है और उनके जमे जमाए काम को मैं भी कैसे ठुकरा सकता था इसीलिए मैंने उनके साथ ही काम करना शुरू कर दिया। अब वह कभी दुकान में नहीं आते मैं ही उनका सारा काम संभालता हूं। उस दिन राकेश के साथ मेरी काफी देर तक बात हुई। मैंने राकेश से कहा कि यार काफी समय हो चुका है हम लोग मिले भी नहीं हैं। एक गेट टूगेदर पार्टी तो बनती है। वह कहने लगा चलो मैं इस बारे में और लोगों से बात करता हूं। मेरे पास कुछ लोग आ जाते हैं जो हमारे कॉलेज में पढ़ा करते थे। मैं उनसे भी पूछ कर देखता हूं। मैंने उसे कहा हां तुम उनसे पूछ कर मुझे बताना। वह लोग क्या कहते हैं। उसके तुरंत बाद तुम मुझे बता देना। राकेश ने मुझसे पूछा कि पर तुम हो कहां? मैंने उसे बताया कि मैं तो मुंबई में ही सेटल हो चुका हूं।

वह कहने लगा क्या बात तुम तो मुंबई में चले गए। हमें तो कुछ पता ही नहीं। मैंने कहा वह सब मिलकर बताऊंगा। कुछ दिनों में राकेश का फोन आया और हम लोगों ने पूरा प्लान बना लिया। अब हम लोग शिमला में गेट टुगेदर पार्टी करने को तैयार हो गए। मैंने भी कुछ पुराने दोस्तों से संपर्क कर लिया था। लगभग सब की शादी हो चुकी थी क्योंकि इतने वर्षों में तो सब लोग अब अपनी जिंदगी में सेटल हो चुके हैं। मेरा एक दोस्त है। उसने ही शिमला में सारा कुछ अरेंजमेंट किया था। जब हम लोग एक दूसरे से मिले तो सब लोग बहुत खुश हो रहे थे। मैं तो राकेश से मिलकर भी खुश था। उसका पेट भी कितना बाहर आ गया था उसे देखकर बिल्कुल भी नही लग रहा था कि यह पुराना राकेश है। जब राकेश कॉलेज में पढ़ता था तो वह बड़ा ही दुबला पतला सा था लेकिन अब तो उसकी तोन बाहर आ चुकी है। उसकी पत्नी भी बिल्कुल उसकी तरह गोल मटोल है। उसे मिल कर भी मुझे अच्छा लगा। मैंने भी अपनी पत्नी से सबको परिचित करवाया। उस पार्टी मे मेरा कॉलेज का एक दोस्त आया हुआ था उसका नाम संकेत है जब उसने मुझे अपनी पत्नी रुचि से मिलवाया तो मुझे ऐसा लगा कि वह मुझे कुछ ज्यादा ही ध्यान से देख रही है और मेरी तरफ आकर्षित हो रही है।। वह मुझ पर डोरे डाल रही थी। उसकी आंखों के बाण सीधा मेरे दिल पर लग रहे थे मैंने भी उसे देखना शुरू दिया।

जब सब लोग पार्टी में एंजॉय कर रहे थे तो मैंने अपनी पत्नी से कहा मैं अभी फ्रेश होकर आता हूं। मैं जैसे ही जाने लगा तो मेरे पीछे पीछे वह आने लगी। मैं उसे होटल के बाथरूम में लेकर गया। हम दोनों मे गर्मागर्म शुरू हो गई मैंने उसे अपनी बाहों में ले लिया और उसके नर्म होठों को चूमने लगा। उसके नर्म होंठ चूसने मे मुझे बड़ा मजा आता मैंने काफी देर तक उसके होठों का रसपान किया। उसके होंठो को चूसते हुए मेरा लंड खडा हो गया। मैंने उसे कहा तुम मेरे लंड को सकिंग करो उसने मेरे लंड को कफी देर तक चूसा। मुझे उसके मुंह में अपने लंड को डालने में बड़ा मजा आ रहा था उसने काफी देर तक मेरे लंड को सकिंग किया। जब हम दोनों पूरी तरीके से मूड मे हो गए तो मैंने भी उसके कपडे उतारते हुए उसकी बड़ी चूतडो को अपने हाथ में पकड़ लिया। जैसे ही मैंने अपने लंड के टोपे को उसकी चूत पर लगाया तो उसकी योनि बाहर की तरफ पानी छोडने लगी। उसकी योनि से गरमा गरम पदार्थ बाहर निकाल रहा था। मैने उससे कहा तुम्हारी योनि से पानी तेजी से निकल रहा है। वह कहने लगी तुम तो कमाल कर रहे हो बातो मे समय बर्बाद ना करो मेरी चूत के अंदर अपने लंड को जल्दी से डालो मैं कंट्रोल नहीं कर पा रही हूं। मैंने भी बड़ी तेजी से उसकी योनि के अंदर अपने लंड को घुसा दिया। जैसे ही मेरा मोटा लंड उसकी चूत के अंदर घुसा तो उसके मुंह से आह की आवाज निकल आई और कुछ देर तक तो मैं उसे धीरे धक्के मार रहा था लेकिन जैसे ही मेरे अंदर जोश पैदा होने लगा तो मैंने उसे तेज गति से चोदना शुरू कर दिया। वह पूरी तरीके से मूड में हो गई। वह अपनी चूतडो को मुझसे मिलाने लगी जैसे ही वह अपने चूतडो को मेरे लंड से मिलाती तो मेरे अंदर से और भी ज्यादा जोश पैदा हो जाता। मैं उतनी तेजी से उसके चूतड़ों पर प्रहार करता। हम दोनों एक दूसरे की गर्मी को करीबन 5 मिनट तक झल पाए। जैसे ही मेरा वीर्य पतन होने वाला था तो मैंने उसे कहा क्या मैं तुम्हारी योनि के अंदर वीर्य को गिरा दूं। वह कहने लगी नहीं तुम इस वीर्य को बर्बाद मत करो तुम इसे मेरा मुंह के अंदर गिरा दो। मैंने भी जल्दी से उसकी योनि से अपने लंड को बाहर निकाला और उसने मेरे लंड को अपने अंदर ले लिया। मेरे लंड को वह सकिंग करने लगी। जैसे ही मेरा वीर्य उसके मुंह के अंदर गिरा तो मुझे बहुत मजा आ गया। हम दोनो जल्दी से पार्टी में आ गए जैसे ही हम लोग वहां पहुचे तो मेरी पत्नी कहने लगी तुम बड़ी देर मे आ रहे हो यहां सब लोग कितना इंजॉय कर रहे हैं। मैं अपनी पत्नी के साथ डांस करने लगा और वह भी संकेत के साथ डांस कर रही थी। वह बार बार मुझे ध्यान से देखे जाती मैं बहुत खुश हो जाता।


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


chut chudai hindi storykamwali ke sath sexsex indian chudaijabarjasti tichar ki chudai ki kahani 2018gand ki chudai ki kahanigav ki bhabhi ki chudairealkahani comfucking aunty sex storieschudai ki kahani photo ke saathदेशी सेकशीAntarvasna ammy beta comChodai sali ki biti kahani photo k sathसकसीचुदाई ताकिchut land kahanisex stories in hindi to readsexsi khanischool girl chudai kahanigandi kahani hindi meinmastram sex story comaunty kischool me chudai storyfree chudai hindi storyanal hindi stori ladki zubanikuwari chut me lundantarwasna gay sex story bahi kay dost nay gaand maribus me chudai kiKamukat hindi sex storypehli chudai ki kahanigandi khaniyamausi ki chut marichoda bhabi kochut ke dhakkanbahu sasur chudaiMerrier bhabi ki seel todi storychachi ki gand mari storymaa bete ki chudai ki hindi storymoti bhabhi ki gaandbaccho ki chudai videohot sexy khanikuwari chuchibaju vali bhabhi ko chodasavita bhabhi new storiespapa ne bete ko chodabibi ke chakkar me bahan chud gai xxxx videochudai ki pictureesha ki chudaiwww hindi sexiland or chut ki kahanisexy stories in hindi freejija sali ki sexy chudaichachi ki chut maarimaa ki chudai sexy storyheroine ki chudai ki kahaninew sexy chudaigandi chudai storymaa ki saheli ki chudaimami ki bursuhagraat chudai kahanimoti gand ki chudaichudai papaapni student ko chodaantrvasna free new lasbin sex storeननद और भाभी को एक साथ चोदा होली पर अन्तरवासनाfree blue films in hindibhabhi k sathमामा अण मामीची कहाणीbhabhi ki gaandland and chut ki storychudai ki real storykamsutra indianchut me loda storysex stories in hindi englishbarsat me bahan ko choda jabarjasti storiesmaa ke sath sex videoअपने यार से अपने पति की गाँड मरवाई और अपनी चूतindian hot kahaniyasaali ki chudai kahaniwww.papa mummy ki chudai ki photo vedio banai kahaninanaji ne chodadesi khet sexbf chudai kahanima ko pata ke chodafree sex stories in marathi