केला गांड मे चला गया

Kela gaand me chala gaya:

kamukta, antarvasna मुझे जब निखिल पहली बार देखने के लिए आए तो निखिल के चेहरे पर घनी दाढ़ी थी निखिल की कद काठी देख कर मेरा दिल उन पर आ गया लेकिन निखिल ने मुझसे पूछा कि क्या तुम मुझसे शादी करने के लिए तैयार हो तो मैंने उस वक्त शरमाते हुए कुछ भी जवाब नहीं दिया लेकिन उसके कुछ दिनों बाद मैंने निखिल से शादी करने के लिए हामी भर दी थी, मेरे पापा ने निखिल के पिता जी से कहा कि हम लोग शादी के लिए तैयार है उसके बाद हम दोनों की सगाई हो गई, जब हमारी सगाई हुई तो मैंने अपने दोस्तों को भी बुलाया था, मैंने सबको निखिल से मिलवाया सब लोग कहने लगे तुम्हारा पति तो बहुत ज्यादा हैंडसम है, निखिल को जो भी देखता तो वह यही कहता कि तुम्हें एक अच्छा लाइफ पार्टनर मिल गया है क्योंकि निखिल का बात करने का अंदाज बहुत अच्छा था और उससे सब लोग पहली नजर में ही प्रभावित हो जाते हैं।

मैं बैंक में प्राइवेट जॉब करती हूं मैंने निखिल से पहले ही कह दिया था कि मैं शादी के बाद भी नौकरी करूंगी क्योंकि मैं नहीं चाहती कि मैं घर पर बैठी रहूं, निखिल को भी इस बात से कोई दिक्कत नहीं थी हालांकि निखिल का परिवार संपन्न है और वह लोग एक बड़े घराने से हैं उनका अपना ही खुद का बिजनेस है लेकिन उसके बावजूद भी निखिल ने मुझे इस बात के लिए मना नहीं किया। मेरी और निखिल की फोन पर बहुत देर तक बात होती जब मेरी निखिल से बात नहीं होती तो उस दिन मुझे ऐसा लगता कि जैसे मेरे जीवन का कोई जरूरी हिस्सा या फिर कोई जरूरी काम रह गया हो, निखिल और मेरे बीच प्यार भी धीरे-धीरे बढ़ने लगा था लेकिन हम दोनों एक दूसरे से नहीं मिल पाते थे क्योंकि मैं अपने ऑफिस में होती थी और निखिल भी अपने काम पर होते थे इसलिए हम दोनों की मुलाकात कम ही हो पाती थी लेकिन जिस दिन भी हम दोनों मिलते तो उस दिन हम दोनों जरूर एक साथ मूवी देखने के लिए जाते क्योंकि मुझे मूवी देखना बहुत पसंद है और निखिल को भी मूवी का बड़ा शौक है, निखिल और मेरी काफी सारी चीजे एक जैसी ही थी हम दोनों को सूफी गाने सुनना काफी पसंद था इस वजह से शायद हम दोनों के विचार भी एक दूसरे से काफी मिला करते हैं।

एक दिन मैं ऑफिस से जल्दी घर लौट आई उस दिन मेरे मामा जी भी घर पर आए हुए थे, मैंने अपने मामा जी को देखा तो मैंने उनसे पूछा मामा जी आप कब आए, वह कहने लगे कि बेटा मैं तो सुबह ही आ गया था। मैं काफी देर मामा के साथ बैठकर उन से बात करती रही जब पापा ऑफिस से आए तो वह भी हमारे साथ बैठ गए और पापा मम्मी मेरी शादी की बात करने लगे, मैंने पापा से कहा कि आप लोग देख लीजिए कब आपको सही लगता है, वह कहने लगे कि बेटा अब तुम्हारी सगाई को काफी समय हो चुका है और अब हमें तुम्हारी शादी करवा देनी चाहिए मैं कल ही इस बारे में निखिल के पिता से बात कर लूंगा, मैंने अपने पापा से कहा पापा आप देख लीजिए जैसा आपको ठीक लगता है क्योंकि निखिल और मेरे बीच तो अब बातें बहुत ज्यादा बढ़ने लगी थी और मुझे भी लगने लगा था कि अब हमें शादी कर लेनी चाहिए। अगले दिन पापा निखिल के घर चले गए और उन्होंने शादी की बात निखिल के पापा से कह दी, वह लोग भी शादी जल्दी ही करवाना चाहते थे क्योंकि अब हम दोनों की सगाई को 6 महीने से ऊपर हो चुके थे इसलिए हम दोनों की शादी का दिन भी अब लगभग तय हो चुका था। पापा जब शाम के वक्त घर लौटे तो पापा कहने लगे कि बेटा अब तुम अपनी शादी की तैयारियां कर लो, मैंने पापा से कहा ठीक है पापा। उस दिन निखिल बहुत ज्यादा खुश थे उन्होंने मुझे फोन करते हुए कहा अब तो जल्दी हम दोनों की शादी हो जाएगी और हम दोनों एक दूसरे के साथ समय बिता पाएंगे, मैंने निखिल से कहा मैं भी चाहती हूं कि जल्दी हम दोनों की शादी हो जाए ताकि अब हम दोनों एक साथ रहे। निखिल मुझे कहने लगे कि हम लोग अपनी शादी के बाद कहां घूमने जाएंगे, मैंने निखिल से कहा कि मुझे तो केरला जाना है क्योंकि मेरे जितने भी दोस्तों की शादी हुई है वह सब लोग अभी केरला होकर आए हैं और मैं आज तक अपने जीवन में कभी भी केरला नहीं गई और उन्होंने केरला की बहुत तारीफ की है इसलिए मुझे वही जाना है।

निखिल कहने लगे ठीक है चलो मैं वहां की टिकट अभी से ही बुक करवा देता हूं, मैंने निखिल से कहा अभी इतनी जल्दी मत करो अभी तो शादी में समय है, निखिल कहने लगा लेकिन तुम्हारी बात तो माननी ही पड़ेगी, मैंने निखिल से कहा ठीक है तुम मेरी बात मान लेना लेकिन अभी तो काफी समय बचा है, निखिल कहने लगे कि देखते ही देखते समय भी निकल जाएगा तुम्हें पता ही नहीं चलेगा और हुआ भी ऐसे ही हम दोनों की शादी का समय नजदीक आ गया मुझे तो कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि मुझे क्या शॉपिंग करनी है लेकिन इसमें मेरी बुआ जी की लड़की ने मेरी बहुत मदद की मेरी बुआ जी की लड़की की शादी कुछ समय पहले ही हुई थी और वह कपड़ों के मामले में बड़ी चूची किस्म की है इसलिए वह मुझे लेकर एक शोरूम में गई और वहां पर उसने मुझे एक सुंदर सा लहंगा दिखाया वह मुझे काफी पसंद आया, मैंने अपनी बहन से कहा कि तुम इसे पैक करवा दो। उसने शोरूम के ओनर से उस लहंगे में मुझे काफी डिस्काउंट दिलवा दिया वह लहंगा मैं घर ले आई और मैंने उसे अपनी मम्मी को दिखाया तो मम्मी कहने लगी यह तो बहुत ही अच्छा है तुम इसमें बहुत सुंदर लगोगी।

मैंने अपनी शादी की शॉपिंग कर ली थी और मेरी शादी का समय भी नजदीक आ गया, जब मेरी शादी होने वाली थी तो उस दिन मैंने अपने ऑफिस के सारे स्टाफ को अपनी शादी में इनवाइट किया था और मेरे जितने भी स्कूल और कॉलेज के फ्रेंड थे वह सब भी मेरी शादी में आए हुए थे मेरी शादी बड़े ही धूमधाम से हुई मेरे पापा ने शादी में कोई भी कमी नहीं की और जब मेरी शादी हो गई तो मैं जब निखिल के घर गई तो वहां पर उस दिन काफी भीड़ थी, एक दो दिन तक तो हम दोनों को समय ही नहीं मिल पाया और मुझे निखिल के घर पर एक हफ्ता हो चुका था निखिल मुझे कहने लगे कि मैंने केरला की टिकट बुक करवा दी है और कुछ दिनों बाद हम लोग वहां जाएंगे। मैं बहुत ज्यादा एक्साइटेड थी क्योंकि मैं कभी भी केरला नहीं गई थी और मैंने अपने दोस्तों की तस्वीरें देखी थी तो मैं बहुत ज्यादा खुश थी। जब हम लोग केरला गए तो मैं बहुत ज्यादा खुश थी, निखिल और मैं एक दूसरे के साथ अकेले में समय बिताकर अपने आप को बहुत फ्रेश महसूस कर रहे थे क्योंकि घर में तो हम दोनों को एक दूसरे के साथ समय बिताने का मौका ही नहीं मिल पाता था। निखिल मुझसे कहने लगे कि अर्चना तुम्हारे साथ तो घर पर समय बिताने का मौका ही नहीं मिल पाता हर दिन कोई ना कोई घर पर आ ही जाता है। मैंने निखिल से कहा हम लोग यहां कितने दिन रुकने वाले हैं, निखिल ने ही सारी प्लानिंग की थी और उन्होंने मुझे कुछ भी नहीं बताया था वह मुझे कहने लगे कि जब तक तुम्हारा मन है तब तक हम लोग यहां रुक सकते हैं, निखिल और मैंने पैराग्लाइडिंग के भी बहुत मजे लिए मैंने अपने जीवन में पहली बार ही पैराग्लाइडिंग की थी और मैं बहुत खुश थी। मैं अब बहुत खुश थी क्योंकि पहले दिन हम दोनों के बीच कुछ भी नहीं हो पाया था इसलिए उस रात निखिल बड़े ही रोमांटिक मूड में थे हम लोग अपने घर पर एक दूसरे के साथ शारीरिक संबंध भी नहीं बना पाए थे। निखिल ने उस दिन होटल के रूम की सारी लाइट बुझा दी और सिर्फ एक डिम लाइट उन्होंने ऑन रखी ताकि हम दोनों मजे ले सकें। जैसे ही निखिल ने मेरे बदन को सहलाना शुरू किया तो मेरे अंदर गर्मी बढने लगी निखिल ने मेरे कपड़ों को उतारना शुरू कर दिया वह मेरे बदन को चाटने लगे।

मैंने भी निखिल के बदन को चाटना शुरू कर दिया मेरा हाथ उनके लंड की तरफ बढ़ा मैंने उनके लंड को अपने हाथ से हिलाना शुरू किया। निखिल ने मुझसे पूछा क्या तुम मेरे लंड को अपने मुंह में लोगी। मैंने उन्हें मना नहीं किया और उनके मोटे लंड को अपने मुंह में लेकर सकिंग करना शुरू कर दिया। मै उनके लंड को बहुत अच्छे से चुसती रही और उन्होने भी मेरी चूत को बड़ी देर तक चाटा। जब उन्होंने मेरी चूत के अंदर अपने लंड को डाला तो मेरी चूत से खून निकलने लगा मेरी चूत का खून इतनी तेजी से बहने लगा कि मुझे बहुत तकलीफ होने लगी और उन्हें बड़ा मजा आने लगा। वह बड़ी तेजी से धक्के मार रहे थे मेरे शरीर से करंट लगातार निकलता जा रहा था और मुझे बहुत तकलीफ हो रही थी लेकिन उनके चेहरे पर एक अलग ही खुशी थी। जब हम दोनों एक दूसरे के साथ पूरी तरीके से संतुष्ट हो गए तो कुछ देर तक हम दोनों लेटे रहे लेकिन निखिल का तो मन भरा ही नहीं था। उन्होंने दोबारा से मुझसे अपने लंड को सकिंग करवाया मैं उनके लंड को बहुत देर तक सकिंग करती रही। मुझे नहीं पता था कि वह मेरी गांड मारने वाले हैं उन्होंने अपने बैग से एक छोटी से सीसी निकाली और उसने अपने लंड पर लगा दिया और थोड़ा बहुत मेरी गांड कके छेद पर भी लगा दिया। जैसे ही उन्होंने अपने मोटे लंड को मेरी गांड के अंदर डाला तो मुझे बहुत तकलीफ हुई मैं दर्द से चिल्लाने लगी मेरी गांड से खून आने लगा था। मुझे ऐसा लगा ना जाने मेरी गांड में क्या फस गया है वह तेजी से धक्के मारने लगे और बड़ी तेजी से वह मुझे धक्के देते। पहले मुझे बड़ा दर्द महसूस हो रहा था लेकिन धीरे-धीरे मुझे भी अच्छा लगने लगा और मैं अपनी बडी गांड को उनसे मिलाने लगी। जब उन्होंने अपने वीर्य को मेरा गांड पर गिराया तो वह कहने लगे हम दोनों कितने दिनो बाद एक दूसरे के साथ शारीरिक संबंध बना पाए। हम दोनों जितना दिन भी केरला में रहे उतने दिन तक मैंने निखिल का केला अपनी चूत और गांड में लिया।


Comments are closed.


error:

Online porn video at mobile phone


ek chuthindi sex story in trainholi chudaiMami ko raat me choda sexy storiesप्रिया की कुवारी चूत गुलाबीsoteli sasi ko jabaradasti soda kahaniwww boor ki chudai comladkiyon ki chuchibhabhi ki gand chudai videobaap beti ki chudai ki photopati se bete tak ka sufar hindi sex fuck kahani part2चुदक्कड़ दीदी को चोदा/chudai storyhindi hot sex kahanisaas sexफेमिली मे चुदाई की दास्तान पेजbf kahanidesi chudai auntychut marne ka tarikaboor ka chodaimeri anokhi chudaihindi sexy storeychudai kahanibhai bahan chudaixxx fucking story in hindilund ka majaindiansex story hindikamukta sexy storieskahani chodne ki hindi with photosasur bahu ki chudai storyमाँ or bahan ने शमले से छुड़वाया की चुदाई की कहानी हिंदी सेक्स स्टोरीजantarvasna bahuchut kese chodejabardasti balatkar sexgaand chodahindi me chutsali ki chodaibhai bahan jija chudai storischachi ki chudai hot storybur land chutchudai ki hindi me kahaniyaनौकरानी की गांड मारी रात को बर्फ कहानीmarvadi sexxbudiya ko chodabadi didi ki chudai kahanimarathe sexphoto chudai keshital ko chodakamuk kathameri chut chudai ki kahaniaunty ki chut storymaa ki chudai khet meमालकिन की चुदासpudi ko pudi ghisne wali kahaniya hindi lesbeanaurat ki chudaisex story in hindi with chachihindi sex storie comzavazavi katha newbeta ne maa ko chodabehan ki chudai ki videodesi chudai ki kahani in hindibhtije ne Anti Ko chodkar pregnent kiya xxx khaniyawww hindi hot sexAmmi anter wasna hot hindi maichut ki kahani insoteli sasi ko jabaradasti soda kahanichut hot storylondon chudaimast ki chudaibhabhi chudai kiदिल्ली में भांजी की चुदाईaunty chudai hindi kahanibhabi ka strip khal hindi antrwasna storymaa chud gairangeen kahaniyabalatkar sex storybete ke samne maa ki chudaikunwari neelam ki seal tod hindi sex story commeena ki chudaichoot ki garmimadhosh kahaniyachudai ke