पत्नी के बाद मामा की लड़की को

Patni ke baad mama ki ladki ko:

desi sex stories, antarvasna sex stories

मेरा नाम सुरजीत है मैं आगरा का रहने वाला हूं, मेरी शादी को एक वर्ष हो चुका है लेकिन इस एक वर्ष में मुझे कहीं जाने का बिल्कुल भी समय नहीं मिला और एक दिन मेरे मामा और मामी मुझे फोन कर के कहने लगे कि तुम कभी हमारे घर भी आ जाओ, मैंने उनसे कहा कि मुझे बिल्कुल भी टाइम नहीं मिल पा रहा है इसलिए मैं आपके घर नहीं आ पाया। मेरे मामा मुझसे बहुत जिद करने लगे और कहने लगे कि इस बार तो तुम्हें हमसे मिलने के लिए आना ही पड़ेगा, मैंने उन्हें कहा ठीक है मैं अपने ऑफिस से कुछ दिनों की छुट्टी ले लेता हूं, उसके बाद ही आपसे मिलने आ पाऊंगा। मैंने अपने ऑफिस में छुट्टी के लिए अर्जी भी डाल दी और जब मुझे छुट्टी मिल गई तो उसके बाद मैं अपने मामा से मिलने के लिए बरेली चला गया। मेरे साथ मेरी पत्नी रूपा भी थी,  मेरी पत्नी मेरे मामा के घर कभी भी नहीं गई थी, उस दिन वह पहली बार उनके घर पर गई।

जब हम लोग अपने मामा और मामी के घर पर गए तो मैं उनसे मिलकर बहुत खुश हुआ और उन्होंने मुझे गले लगा लिया, मेरे मामा मुझे कहने लगे चलो कम से कम तुम ने हमारे घर का रास्ता तो देखा, तुम तो शादी के बाद हमारे घर का रास्ता ही भूल गए थे। मैंने उन्हें कहा कि मामा ऐसी कोई भी बात नहीं है, मैं अपने काम में इतना ज्यादा बिजी हो गया हूं कि मुझे बिल्कुल भी समय नहीं मिल पा रहा था इसी वजह से मैं आपके घर नहीं आ पाया, नहीं तो मैं आपके घर क्यों नहीं आता। वह कहने लगे चलो अब तुम हमारे घर पर आ चुके हो तो हमें भी अपनी खातिरदारी का मौका दो, हम लोग उनके घर पर बहुत ही अच्छे से थे क्योंकि मेरे मामा का नेचर बहुत ही खुशमिजाज है और वह बहुत ही खुश रहते हैं। इतने में मेरे मामा की लड़की रचना भी आ गई, मैंने रचना से पूछा तुम कहां थी, वह कहने लगी कि मैं अपनी सहेली के घर पर गई हुई थी, मेरा कुछ काम था तो मैं उससे मिलने चली गई थी। मैंने रचना से पूछा कि तुम क्या कर रही हो, वह कहने लगी कि मैं फिलहाल तो पार्ट टाइम नौकरी कर रही हूं और अभी आगे के बारे में कुछ सोचा नहीं है।

रचना जब मेरी पत्नी से मिली तो उसे भी कंपनी मिल गई और वह दोनों ही आपस में बैठकर बात करने लगे। मैं भी अपने मामा के साथ बैठा हुआ था और दूसरे कमरे में मेरी मामी, रचना और मेरी पत्नी बैठे हुए थे। मेरे मामा कहने लगे तुम्हारा काम कैसा चल रहा है, मैंने उन्हें कहा कि मेरी नौकरी तो अच्छी चल रही है लेकिन आगे कुछ करने का सोच रहा हूं क्योंकि अब खर्चे बहुत ज्यादा बढ़ने लगे हैं और इतने पैसों में घर का खर्चा चलाना मुश्किल हो जाता है इसीलिए मैं अब कुछ और करने की सोच रहा हूं। मेरे मामा मुझे कहने लगे कि मैं भी कुछ नया करने की सोच रहा हूं क्योंकि मैं जो काम कर रहा हूं उसमे अब इतना ज्यादा प्रॉफिट नहीं रह गया है इसलिए मैंने कुछ नया काम खोलने की सोची है यदि तुम उसमें मेरा साथ दो तो शायद हम दोनों मिलकर वह काम कर सकते हैं। मैंने अपने मामा से पूछा कि आप क्या काम करना चाह रहे हैं, वह कहने लगे कि मैं ट्रांसपोर्ट का काम खोलने की सोच रहा हूं और मैंने इस बारे में अपने एक दोस्त से भी बात कर ली है, वह मेरी मदद करने को भी तैयार है। मैंने अपने मामा से कहा कि मेरे पास तो इतने पैसे नहीं है कि मैं ट्रांसपोर्ट का काम शुरू कर सकूं, वह कहने लगे कि तुम उसकी चिंता मत करो पैसे मैं तुम्हें दे दूंगा, बस तुम्हें काम संभालना है यदि तुम इस काम के लिए तैयार हो तो मैं अपने दोस्त से इस बारे में बात करता हूं। मैंने उन्हें कहा ठीक है मैं इस बारे में आपको घर जाकर ही बता पाऊंगा क्योंकि अभी मैं जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं लेना चाहता। मामा कहने लगे कि तुम कुछ वक्त और ले लो और अगर तुम्हें लगे कि तुम्हें अपना काम शुरू करना है तो तुम मुझे बता देना, उसके बाद हम लोग अपना काम शुरू कर लेंगे। मेरे मामा और मैं हम दोनों ही खुलकर बात करते हैं, वह मेरे साथ शराब भी पीते हैं, मामा कहने लगे कि चलो आज काफी समय बाद तुम मिले हो तो दो दो पेग तो बनते ही हैं। उन्होंने भी अपनी अलमारी से शराब की बोतल निकाल ली और हम दोनों ही बैठ कर शराब पीने लगे। मामा ने कुछ ज्यादा ही शराब पी ली थी इसलिए उन्हें नशा हो गया और वह बहुत ज्यादा नशे में हो गए। मैंने उन्हें कहा कि अब आप सो जाइए क्योंकि आपको बहुत नशा हो गया है।

मेरी मामी ने खाना बना दिया था तो हम लोगों ने खाना खाया और उसके बाद मैं कुछ देर अपनी पत्नी रूपा के साथ बैठा रहा, रूपा मुझसे कहने लगी कि तुमने भी आज कुछ ज्यादा ही शराब पी ली है, मैंने उससे कहा कि कभी कबार ऐसा मौका मिलता है बार-बार हम लोग मिलने वाले नहीं हैं इसीलिए मैंने थोड़ी बहुत शराब पी ली तो उसमें क्या गलत कर दिया। मुझे भी नींद आने लगी थी और मैं भी अपने बिस्तर पर लेट गया, रूपा भी कहने लगी कि तुम्हें नींद आ रही है तुम सो जाओ। मेरा सेक्स करने का पूरा मन था इसलिए मैंने रूपा को कसकर पकड़ लिया और उसके मुंह में अपने लंड को डाल दिया। जैसे ही मेरा लंड रूपा के मुंह में घुसा तो उसने मेरे लंड को अपने मुंह के अंदर तक ले लिया और अच्छे से सकिंग करने लगी। मैंने उसे कहा कि मुझे बहुत मजा आ रहा है जब तुम मेरे लंड को चूस रही हो। वह मेरे लंड को अपने मुंह के पूरे अंदर तक ले रही थी और मुझे भी बहुत अच्छा लग रहा था। मैंने जब उसे चोदा तो मुझे उसे चोदकर बड़ा मजा आया और काफी देर तक मै उसे चोदता रहा लेकिन मेरा वीर्य गिर ही नहीं रहा था। रचना बाहर से देख रही थी जब मेरा वीर्य पतन हुआ तो उसके बाद मैं बाहर गया रचना खिड़की से झांक रही थी। मैंने उसे कसकर पकड़ लिया और दूसरे कमरे में लेकर चला गया।

मैंने उसे कहा कि तुम यह सब क्या देख रही थी। वह कहने लगी कि मैं आप दोनों को सेक्स करता हुआ देख रही थी मुझे बड़ा मजा आ रहा था। मैंने उसे नंगा कर दिया मैंने उसका बदन देखा तो मुझसे बिल्कुल भी नहीं रहा गया। मैंने उसकी योनि को चाटना शुरू कर दिया और काफी देर तक मैं उसकी चूत को चाटता रहा। जब उसकी चूत से कुछ ज्यादा ही पानी बाहर आने लगा तो मुझसे भी बिल्कुल कंट्रोल नहीं हुआ और मैंने जैसे ही रचना की योनि में अपने लंड को डाला तो वह चिल्लाने लगी। उसकी योनि से खून बाहर की तरह निकलने लगा मुझे बहुत मजा आ रहा था जिस प्रकार से मैं उसे धक्के दे रहा था। वह मुझे कहने लगी भैया मुझे आप जिस प्रकार से चोद रहे हो मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है। मैंने उसे बड़ी तेज तेज धक्के मारे जब मेरा वीर्य पतन हो गया तो मैने रचना को उलटा लेटा दिया और उसकी योनि के अंदर अपने लंड को डालते हुए उसे धक्के मारने शुरू कर दिए। वह अपने मुंह से सिसकियां ले रही थी और मुझे कह रही थी मुझे और तेज झटके मारो। मैंने उसे बड़ी तेज तेज धक्के मारे और उन झटको के बीच मे ना जाने कब मेरा वीर्य पतन हो गया मुझे पता ही नही चला। जब मैंने अपने लंड को उसकी योनि से बाहर निकाला तो उसकी योनि से बहुत ज्यादा खून बाहर की तरफ निकल रहा था। वह कहने लगी मुझे बहुत ज्यादा दर्द हो रहा है मैंने उसे कहा तुम्हारा दर्द ठीक हो जाएगा तुम चिंता मत करो। मैंने अपने लंड को साफ किया और रचना से कहा कि तुम इसे मुंह में ले लो तुम्हें बहुत अच्छा लगेगा। उसने अपने मुंह के अंदर मेरे लंड को ले लिया और चूसने लगी। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था जब वह मेरे लंड को चूस रही थी। मैंने उसे कहा कि तुम बड़े ही अच्छे से मेरे लंड को चूस रही हो मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। उसने काफी देर तक ऐसे ही किया लेकिन जब उसके मुंह मे मेरा माल गिरा तो वह कहने लगी आपका माल बहुत ही स्वादिष्ट है मुझे बहुत अच्छा लगा। उसने अपने कपड़े पहने लिए और मने भी अपने कपडे पहन लिए।


Comments are closed.


error:

Online porn video at mobile phone


best chut ki chudaihindi sexy kahaniya newchachi chudaisaali chudai storychudai land chuthindi chudai desi kahanisexy story indian in hindimami sexy story hindinangi ladki ki chuchiveerana sexkaamwali ke sath sexsunitha auntyshriya sex storiesbahan ko choda hindi storymaid servant sex storieskamasutra sex kahanibhosda sexindian maal ki chudaichoudan sexsexi chutzavazavi katha newchudakad bhabhibhabhi ke sathchachi ka doodh piyapelne ki kahanisex story in hindi newsexy ko chodaHindi sex kahanilund ki chusaibeti bahu ki chudaimadmast kahaniyahindi sexy storyghar me chodaschool madam ki chudaibahan ki sexy storymaa chudai ki kahanigali wali chudaichudai ki kahani baap beti kimari antarvasnabhabhi ko chudte dekhaसभी हिरोनी लंड को चुत मे लेते फोटोchut lund ka majachut me bulladesi aex storiesbua ki ladki ki chudai hindisali jija ki chudai storybahan ne chodachut chatnahindi sex storey commeri chudai ki dastanlambe land ki chudaichut kaisi hoti hbua ke chodachut kahani hindisex story bhabichoot marne ke tarikebhari chootnew bhabhi ki chudai ki kahanisexy bhabhi ki chut ki photogujarati sexy storychudai bhojpuribete ke sath sexdaku ne chodahindi sex story elastic capriwww sexy story hindixxx ki kahanithakur ki chudaidost ki chudaigooddayufa.ru antarvasna chudai videomaa ki chut chatichudai sexy hindihindi aunty chudai kahaniगंदी भाभी कहानीjanwar se chudaimoti maa ki gand marimarwariki, chit, me, landbhabhi ko choda new storyबिधवा भाभी कि कुआरी चुत chori ki chutचोदाई के कहानी संग्रहhindi chudai story freeshadi main chudaibur aur land ki chudaihindi xxx sex storysexy mami ki chudai ki kahani